Drop Us An Email Any Enquiry Drop Us An Email info@e-webcareit.com
Call Us For Consultation Call Us For Consultation +91 9818666272

Uttarakhand News: दिल्ली से लौटे दो भाइयों ने बंजर खेतों में उगाई सफलता की कहानी, एक साल में कमाए 24 लाख, कइयों को दिया रोजगार

Uttarakhand News

Uttarakhand News: दिल्ली से लौटे दो भाइयों ने बंजर खेतों में उगाई सफलता की कहानी, एक साल में कमाए 24 लाख, कइयों को दिया रोजगार

Uttarakhand News : टिहरी जिले के चंबा गांव के डडूर गांव के बंजर खेत में दो भाइयों ने जब उम्मीद का बीज बोया तो सफलता की फसल खिल उठी.

डडूर गांव के रहने वाले सुशांत और प्रकाश उनियाल ने दिल्ली की नौकरी छोड़कर गांव में मशरूम का प्लांट लगाया और सफलता उनके कदम चूमने लगी. आज उनके पास गढ़वाल क्षेत्र का सबसे बड़ा मशरूम का पौधा है और वे सफल उद्यमियों की श्रेणी में शामिल हो गए हैं।

दोनों भाई 2018 में गांव लौटे

डडूर गांव निवासी सुशांत उनियाल दिल्ली में एक मल्टीनेशनल कंपनी में सेल्स मैनेजर के पद पर कार्यरत था और उसका भाई प्रकाश बैंक में कार्यरत था.

वे देश की राजधानी में नौकरी करते थे, लेकिन उनका दिल अपने गांव में ही बसता था। सुशांत और प्रकाश ने पलायन के कारण खाली पड़े गांव और बंजर खेतों को देखकर गांव लौटने का फैसला किया और 2018 में दोनों गांव लौट आए.

उसने गांव में एक व्यवसाय शुरू करने की योजना बनाई। वर्ष 2019 में केंद्र सरकार के मिशन ऑफ इंटीग्रेटेड डेवलपमेंट ऑफ हिल्स (एमआईडीएच) योजना के तहत उन्होंने 28.65 लाख रुपए कर्ज लेकर गांव में ही ढींगरी मशरूम का पौधा लगाया।

इसके बाद उन्होंने गांव व आसपास के क्षेत्र के युवाओं को जोड़ा। कारोबार चलता रहा और लॉकडाउन में भी उन्होंने 10 लाख रुपये का कारोबार किया। अब उनके उत्पाद चंबा, नई टिहरी, ऋषिकेश, देहरादून और दिल्ली जाते हैं।

एक साल में 24 लाख से ज्यादा का कारोबार

सुशांत और प्रकाश का मशरूम का पौधा गढ़वाल का सबसे बड़ा प्लांट है। यहां हर महीने एक हजार किलो ढींगरी मशरूम का उत्पादन होता है। वह स्थानीय बाजार में 150-180 रुपये किलो के हिसाब से मशरूम बेचते हैं।

इसके अलावा वह मशरूम और लहसुन का अचार भी बेचते हैं। इससे उन्हें एक साल में 24 लाख का टर्नओवर हो रहा है। इसके अलावा दोनों भाइयों को अब अन्य कार्यक्रमों में भी मशरूम की ट्रेनिंग देने के लिए बुलाया जाता है।

20 युवाओं को रोजगार दे रहे हैं

सुशांत और प्रकाश के मशरूम प्लांट से 15-20 युवाओं को रोजगार मिल रहा है। सुशांत कहते हैं, उनके प्लांट में नियमित रूप से 15 युवा काम करते हैं। इसके अलावा वह अन्य पांच युवकों को काम के हिसाब से काम करने के लिए बुलाता है। सीजन के दौरान प्लांट में 20 से ज्यादा कर्मचारी भी काम करते हैं। इसके अलावा पवन नेगी सुपरवाइजर के पद पर कार्यरत हैं.


Leave a Reply

Get the Latest News in hindi

Call Us On  Whatsapp
en English
X
%d bloggers like this: