Drop Us An Email Any Enquiry Drop Us An Email info@e-webcareit.com
Call Us For Consultation Call Us For Consultation +91 9818666272

उत्तराखंड: अब कोटद्वार को कण्व नगरी के नाम से जाना जाएगा, सीएम त्रिवेंद्र ने नाम बदलने की मंजूरी दी

Uttarakhand: Now Kotdwar will be known as Kanva Nagari

उत्तराखंड: अब कोटद्वार को कण्व नगरी के नाम से जाना जाएगा, सीएम त्रिवेंद्र ने नाम बदलने की मंजूरी दी

उत्तराखंड में पौड़ी जिले के कोटद्वार नगर निगम का अब नाम बदलकर कण्व नगरी रखा जाएगा। बुधवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। उत्तर प्रदेश में नजीबाबाद से सटे उत्तराखंड के कोटद्वार का नाम महर्षि कण्व के नाम पर रखने की लंबे समय से मांग चल रही थी।

एक धार्मिक मान्यता है कि महर्षि कण्व की तपस्थली कणवश्रम कोटद्वार से लगभग 14 किलोमीटर दूर है। इसलिए कोटद्वार की पहचान कण्व महर्षि के नाम से भी है। इसके आधार पर, कोटद्वार का नाम बदलकर कण्व नगरी करने की मांग की गई।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की ओर से नए नाम पर सहमति बन गई है। ऐसा माना जाता है कि नाम बदलने के कारण, कोटद्वार को धार्मिक पर्यटन के रूप में मान्यता दी जाएगी।

CM Trivendra Singh Rawat
CM Trivendra Singh Rawat

कोटद्वार को सिद्धबली जन शताब्दी एक्सप्रेस से एक नई पहचान मिलेगी

जिले के दूरस्थ विकासखंडों के लोगों और जनप्रतिनिधियों ने कोरोना संक्रमण के लगभग एक साल बाद कोटद्वार में रेलवे की गतिविधियों के शुरू होने का स्वागत किया है। उनका कहना है कि कोटद्वार के सिद्धबली धाम के नाम से देश की राजधानी के लिए एक नई एक्सप्रेस ट्रेन के संचालन के कारण गढ़वाल को कोटद्वार के साथ एक नई पहचान मिलेगी। कई संगठनों के पदाधिकारियों ने कहा कि उत्तराखंड के प्रवासियों में उत्साह था, जो कि सिर्फ़ सिध्हाली के नाम पर सीधी ट्रेन शुरू होने से गढ़वाल में ही नहीं, बल्कि बिजनौर, मेरठ और दिल्ली सहित मैदानी इलाकों में रह रहे हैं। उन्हें उम्मीद है कि मसूरी लिंक और गढ़वाल एक्सप्रेस, जो कोरोना संक्रमण अवधि के दौरान बंद कर दी गई थी, जल्द ही वापस ट्रैक पर आ जाएगी।

कोरोना संक्रमण काल ​​के बाद कोटद्वार से दिल्ली के लिए पहाड़ी क्षेत्र के लोगों को सीधी रेल सेवा के संचालन से लाभ होगा। यह दिल्ली से गढ़वाल आने वाले लोगों के लिए सबसे अच्छी रेल सेवा साबित होगी। वे समय रहते अपने पर्वतीय गाँवों के लिए प्रस्थान कर सकेंगे।

कोटद्वार से सिद्धबली जन शताब्दी एक्सप्रेस का परिचालन रेल सेवाओं के विस्तार में एक मील का पत्थर साबित होगा। सिद्धबली जन शताब्दी एक्सप्रेस कोटद्वार और इसके प्रसिद्ध सिद्धबली धाम को देश में एक नई पहचान देगा। यह पहाड़ के रेल यात्रियों के लिए आसान आवागमन का साधन बन जाएगा।


Leave a Reply

Get the Latest Update and news about around India or the world

%d bloggers like this: