Drop Us An Email Any Enquiry Drop Us An Email info@e-webcareit.com
Call Us For Consultation Call Us For Consultation +91 9818666272

बच्ची के साथ बलात्कार, बोली रेप कर लो लेकिन मारो मत, सुनकर मां कांप उठेगी

bhopal sexually abused

बच्ची के साथ बलात्कार, बोली रेप कर लो लेकिन मारो मत, सुनकर मां कांप उठेगी

एमपी की राजधानी भोपाल में एक युवती के साथ दिल्ली की निर्भया जैसी सुंदरता बनाई गई है। युवक ने लड़की के साथ ऐसी दुःख की हद पार कर दी कि वह अगले 6 महीने तक बिस्तर से हिल भी नहीं सकती थी। इस घटना से पुलिस सहित प्रशासन में हड़कंप मच गया। लड़की की मां ने मीडिया को बेटी और सरकार के बारे में बताया।

पीड़िता की मां के मुताबिक, उसकी बेटी संध्या करीब 1 महीने पहले शाम को भोपाल में अपने घर के पास टहल रही थी। इस बीच, एक निर्जन क्षेत्र और अंधेरे को देखकर, एक लड़के ने अपनी बेटी को सड़क से नीचे धकेल दिया और उसकी बेटी के साथ जबरदस्ती करने लगा। बताया कि बदमाश उसके साथ लगातार मारपीट कर रहे थे और उसके साथ बलात्कार करने की कोशिश कर रहे थे और वह अपनी जान बचाने की कोशिश कर रही थी।

लड़की की मां ने कहा कि जब जोर से चीख-पुकार शुरू हुई तो रास्ते से गुजर रहे लोग उसकी तरफ दौड़े, जिसके बाद आरोपी फरार हो गया। लोग उसकी बेटी को अस्पताल ले गए जहां उसका इलाज किया गया। लड़की को इसलिए पीटा गया कि उसके सिर, गर्दन और पीठ पर चोटें आईं। लगभग 10 दिनों तक अस्पताल में रहने के बाद, पीड़ित को 25 जनवरी को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।

लड़की फिलहाल घर में बिस्तर पर है। लड़की की रीढ़ में एक छड़ है और वह खराब है। इसके अलावा, लड़की ने एक कठिन प्लास्टिक कवर पहन रखा है, ताकि वह हिल न सके। यह पहना गया है ताकि यह स्थानांतरित न हो और रीढ़ में शिकंजा को प्रभावित न करे।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को भी एक ज्ञापन दिया गया- पीड़ित की माँ

पीड़िता की मां का कहना है कि उसकी बेटी ने जो कहा उससे वह हैरान रह गई। लड़की की मां ने बताया कि जब लड़का उसकी निर्दयता से पिटाई कर रहा था, तो उसकी बेटी को एक पल के लिए समझ में आया कि वह इस हमले से मर जाएगी, इसलिए उसने लड़के से कहा कि उसे वही करना चाहिए जो उसे करना था लेकिन उसे मारना नहीं था। पीड़िता की मां का कहना है कि अब तक पुलिस ने केवल छेड़छाड़ का मामला दर्ज किया था।

पीड़िता की मां के अनुसार, उसे अपनी बेटी के साथ अपमानित किया गया था और उसने इस मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को एक ज्ञापन भी सौंपा था।

पीड़िता की मां ने आजतक को बताया कि शुक्रवार को डीआईजी इरशाद वली और कलेक्टर अविनाश लवानिया ने उनसे मुलाकात की है और हर संभव मदद का आश्वासन दिया है, लेकिन उन्होंने अभी तक अपनी बेटी के साथ आरोपी की पहचान नहीं की है।

कलेक्टर अविनाश लवानिया ने भी शुक्रवार को पीड़िता और उसकी मां से मुलाकात की और उन्हें पीड़ित के इलाज में हर संभव मदद का आश्वासन दिया। इसके अलावा, उपचार में होने वाले खर्च को सरकार द्वारा अनुमोदित किया गया है। सारा खर्च सरकार को जाएगा।


Leave a Reply

Get the Latest Update and news about around India or the world

Call Us On  Whatsapp
%d bloggers like this: