Breaking News
prev next
Drop Us An Email Any Enquiry Drop Us An Email info@e-webcareit.com
Call Us For Consultation Call Us For Consultation +91 9818666272
kumbh mela haridwar 2021

कुंभ के लिए धर्मध्वज तैयार किए जा रहे हैं, जानें इसकी विशेषताएं

कुंभ के लिए धर्मध्वज तैयार किए जा रहे हैं, जानें इसकी विशेषताएं

kumbh mela haridwar 2021

कुंभ के लिए धर्मध्वज तैयार किए जा रहे हैं, जानें इसकी विशेषताएं

कुंभ के दौरान, उन विशाल लकड़ियों का विशेष महत्व है, जिन पर अखाड़ों का धर्मध्वजा स्थापित है। मजिस्ट्रेट ने पहले बैरागी अखाड़े में स्थापित की जाने वाली धर्मध्वजा के लिए लकड़ियां सौंपी। धर्मध्वजा स्थापित होने के बाद ही कुंभ में मांगलिक कार्य शुरू होते हैं।

Kumbh Mela Haridwar 2021

अखाड़ा परिषद ने मेला प्रशासन के अधिकारियों के साथ अपने स्वयं के पेड़ों का चयन किया था ताकि छिद्दरवाला के जंगलों में धर्म ध्वज स्थापित किया जा सके। मेला प्रशासन द्वारा इस वृक्ष को अखाड़े को प्रदान करने की प्रक्रिया शुरू हो गई है।

मेला प्रशासन ने पहले धार्मिक ध्वज के इन पेड़ों को बैरागी संप्रदाय के अखाड़े को सौंप दिया। मौके से पेड़ों को कटवा कर उनका छिलान कराया गया, जिसके बाद उन्हें अखाड़े को सौंप दिया गया।

दिगंबर अखाड़ा के प्रतिनिधि, बाबा हठयोगी ने कहा कि मेला अधिकारी स्वयं धर्म ध्वज की लकड़ी के साथ उनके पास आए हैं, यह स्पष्ट है कि कुंभ मेले का दिव्य और भव्य आयोजन धर्म नगरी में होगा। उन्होंने कहा कि इस महामारी के दौरान सरकार के साथ संतों की भी बड़ी जिम्मेदारी है।

Haridwar Kumbh Mela Shahi Snan Dates

उनका प्रयास कुंभ के दौरान अपनी जिम्मेदारी को पूरी तरह से निभाना होगा ताकि कुंभ में आने वाले कोविद के खतरे से दूर रहें। मेला अधिकारी दीपक रावत ने कहा कि धर्मध्वजा की लकड़ी को हरिद्वार लाना प्रशासन के लिए एक बड़ी चुनौती थी।

सबसे पहले, लकड़ी के चयन के लिए वन विभाग की सभी औपचारिकताओं को पूरा करना होगा। इसके बाद, इसका परिवहन किसी चुनौती से कम नहीं है। लेकिन यह लकड़ी सुरक्षित रूप से हरिद्वार पहुंच गई, इसके लिए प्रशासन की टीम बधाई की पात्र है।

कुंभ मेले के लिए कंटीजेंसी योजना बनाई जाएगी

जिलाधिकारी सी रविशंकर ने कहा है कि भीड़-भाड़ वाले इलाकों से कुछ दूरी पर, कुंभ मेले के लिए एक कंटीजेंसी योजना बनाने के लिए अस्पताल, एम्बुलेंस, फायर स्टेशन, फायर ब्रिगेड, पुलिस आदि की स्थापना की जाएगी।

यह भी योजना में ध्यान में रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि किसी भी आपदा की स्थिति में, जिले की योजना प्रभावी ढंग से काम करे, इसके लिए सभी विभागों के अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ पूर्वाभ्यास किया जाएगा। कुंभ मेले में जिलाधिकारी ने आपदा प्रबंधन, आपातकालीन योजना तैयार करने को लेकर कलेक्ट्रेट में बैठक ली।

डीएम ने पुलिस, जिला प्रशासन, कुंभ प्रशासन, एसडीआरएफ, नगर निगम, स्वास्थ्य, आपदा प्रबंधन, अग्नि, पीआरडी, बिजली, प्राकृतिक गैस परियोजना, सार्वजनिक निर्माण, सिंचाई, ग्रामीण इंजीनियरिंग विभाग और सुरक्षा व्यवस्था के अधिकारियों के साथ बैठक में भाग लिया। कुंभ मेला अवधि। विस्तार से तैयार किए जाने की योजना पर चर्चा की।

सभी प्रकार की आपदा से निपटने के लिए और जिला प्रशासन द्वारा तैयार की जाने वाली आकस्मिक योजना के लिए एक प्रभावी योजना बनाने के लिए, डीएम ने कहा कि इसके अलावा अन्य राज्यों में वर्तमान में आयोजित कुंभ कार्यक्रमों और मेले त्योहारों के सुरक्षा उपायों के अलावा, कोविद -19 और हरिद्वार तकनीकी विभागों की एक टीम पुलिस और प्रशासन के साथ एक संयुक्त सर्वेक्षण प्रस्तुत करेगी और अन्य विकास कार्यों के बाद भौगोलिक परिवर्तनों के आधार पर रिपोर्ट देगी।

Kumbh Mela Haridwar 2021

कुंभ: तीर्थयात्रियों पर रोक संभव नहीं है, प्रचार करेंगे

देहरादून:- हरिद्वार कुंभ की व्यवस्थाओं को लेकर पुलिस अधिकारियों की बैठक में कुंभ मेले को लेकर केंद्र की एसओपी पर भी चर्चा हुई। उत्तराखंड के अधिकारियों ने पंजीकरण के आधार पर यात्रियों को केंद्र के दिशानिर्देशों का हवाला देते हुए, RTPCR परीक्षण के लिए हरिद्वार आने की अनुमति देने पर जोर दिया। हालांकि, अन्य राज्यों की पुलिस ने बिना जांच के आने वाले लोगों को रोकने का कोई आश्वासन नहीं दिया। हालांकि, यह आश्वासन दिया गया था कि पुलिस प्लेटफॉर्म के माध्यम से केंद्र की दिशानिर्देश को बढ़ावा दिया जाएगा।

इस समय के दौरान, सभी राज्यों के अधिकारियों का एक संयुक्त व्हाट्सएप ग्रुप बनाया जाएगा, ट्रैफिक का दबाव बढ़ने पर पड़ोसी राज्यों से डायवर्जन होगा।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Get the Latest Update and news about around India or the world

%d bloggers like this: