Drop Us An Email Any Enquiry Drop Us An Email info@e-webcareit.com
Call Us For Consultation Call Us For Consultation +91 9818666272

Joshimath: भूस्खलन ने बढ़ाई बदरीनाथ धाम के करोड़ों के खजाने की चिंता, यहां शिफ्ट करने की हो रही तैयारी

Joshimath crisis

Joshimath: भूस्खलन ने बढ़ाई बदरीनाथ धाम के करोड़ों के खजाने की चिंता, यहां शिफ्ट करने की हो रही तैयारी

जोशीमठ में हुए भूस्खलन ने भगवान बद्री विशाल के खजाने को लेकर भी चिंता बढ़ा दी है. अगर स्थिति और बिगड़ती है तो बद्रीनाथ धाम के खजाने को पीपलकोटी स्थित मंदिर समिति के निरीक्षण भवन में स्थानांतरित कर दिया जाएगा.

Joshimath crisis

बद्रीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष अजेंद्र अजय ने यहां निरीक्षण के बाद यह बात कही। कहा कि जरूरत पड़ी तो यहां स्थित निरीक्षण भवन के हॉल को स्ट्रांग रूम बनाया जाएगा। उन्होंने मंदिर समिति के पदाधिकारियों से कोषागार की सुरक्षा को लेकर भी चर्चा की।
Joshimath crisis

चारधाम यात्रा समाप्त होते ही बद्रीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के प्रधान कार्यालय के साथ ही बदरीनाथ धाम का करोड़ों का खजाना भी जोशीमठ शिफ्ट कर दिया गया है.

वर्तमान में बद्रीनाथ के खजाने में करोड़ों की नकदी के अलावा 30 क्विंटल चांदी, 45 किलो से अधिक सोना और आभूषण शामिल हैं। जोशीमठ में भूस्खलन से स्थिति बिगड़ती जा रही है, जिसे देखते हुए कोषागार को पीपलकोटी में स्थानांतरित करने की योजना बनाई जा रही है।
Joshimath crisis

मंदिर समिति के अध्यक्ष अजेंद्र अजय ने कहा कि नरसिम्हा मंदिर और मंदिर समिति के कार्यालय को कोई खतरा नहीं है, लेकिन भविष्य में खतरे से इंकार नहीं किया जा सकता है.
Joshimath crisis

इसे देखते हुए पीपलकोटी स्थित मंदिर समिति के निरीक्षण भवन का निरीक्षण किया गया. बद्रीनाथ के खजाने को यहां रखने की योजना है। बता दें कि अब तक शहर के 849 भवनों में दरारें आ चुकी हैं।

वहीं, राज्य सरकार द्वारा अब तक प्रति परिवार विस्थापन के लिए 466 प्रभावित परिवारों को 3 करोड़ एक लाख रुपये की राशि अग्रिम रूप से वितरित की जा चुकी है.


Leave a Reply

Get the Latest News in hindi

Call Us On  Whatsapp
en English
X
%d bloggers like this: