Drop Us An Email Any Enquiry Drop Us An Email info@e-webcareit.com
Call Us For Consultation Call Us For Consultation +91 9818666272

ब्रेकिंग न्यूज़ यूपी प्रयागराज : फटे पेट ही डॉक्टरों ने ऑपरेशन थियेटर से 3 साल की मासूम को बाहर निकाला, तड़पकर हुई मौत

3 year old child died after suffering a stomach ache

ब्रेकिंग न्यूज़ यूपी प्रयागराज : फटे पेट ही डॉक्टरों ने ऑपरेशन थियेटर से 3 साल की मासूम को बाहर निकाला, तड़पकर हुई मौत

यूपी प्रयागराज (UP Prayagraj): के प्रयागराज से एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसे जानकर आपका दिमाग हिल जाएगा। शुक्रवार को तीन साल की बच्ची को प्रयागराज के यूनाइटेड अस्पताल में भर्ती कराया गया। इलाज की पूरी रकम देने में परिवार असमर्थ था। जिसके बाद अस्पताल के डॉक्टरों ने उसी हालत में 3 साल की बच्ची को ऑपरेशन टेबल से लौटा दिया। आपको बता दें कि डॉक्टरों ने बिना टांके लगाए मासूम का पेट बाहर निकाल दिया। जिसके बाद लड़की की हालत बिगड़ गई और आखिरकार उसकी मौत हो गई।

आपको बता दें कि प्रयागराज के करेली में रहने वाले ब्रह्मदीन मिश्रा की तीन साल की बेटी को पेट की समस्या थी। माता-पिता को इलाज के लिए प्रयागराज के धूमनगंज स्थित संयुक्त अस्पताल में भर्ती कराया गया। भर्ती होने के कुछ दिनों बाद, बच्चे के पेट का ऑपरेशन किया गया। इसके बाद, डॉक्टरों ने एक दूसरा ऑपरेशन किया।

अगर बच्चे के पिता की माने तो इस ऑपरेशन के लिए डेढ़ लाख रुपये लेने के बाद भी अस्पताल प्रशासन ने पांच लाख की मांग की। जब पैसे नहीं दिए जा सके, तो अस्पताल प्रशासन ने लड़की को बाहर भेज दिया और कहा कि अब यहां इलाज नहीं किया जा सकेगा।

उसी हालत में, ब्रह्मदीन लड़की को लेकर कई अस्पतालों में गया, लेकिन किसी ने लड़की को भर्ती नहीं किया। अन्य अस्पतालों ने कहा कि लड़की की हालत बहुत गंभीर है, वह जीवित नहीं रहेगी। जिसके बाद बच्ची जिंदगी की जंग हार गई और इलाज के अभाव में उसकी मौत हो गई।

पिता ने कहा कि डॉक्टरों ने बच्चे के ऑपरेशन के बाद उसे सिलाई, सिलाई नहीं की और इसे परिवार को सौंप दिया। इस कारण दूसरे अस्पताल ने बच्ची को लेने से इनकार कर दिया। बाद में इलाज के अभाव में लड़की ने दम तोड़ दिया।

dm up prayagraj
DM Up Prayagraj

हर तरफ से निराशा मिलने के बाद निराश पिता ने अपनी बेटी का इलाज करने के लिए सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों से अपील की। वीडियो में, पिता न्याय के लिए गुहार लगाते हुए अपने बच्चे को सीजर के अनियोजित पेट को भी दिखा रहा है। सोशल मीडिया पर वीडियो सामने आने के बाद लोगों ने यूनाइटेड हॉस्पिटल की निंदा की और इतना ही नहीं सोशल मीडिया पर लोग जिला प्रशासन और पीएम के साथ-साथ जिला प्रशासन और अस्पताल के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की अपील कर रहे हैं।

सोशल मीडिया पर बालिकाओं के समर्थन को देखते हुए, प्रयागराज के जिलाधिकारी भानुचंद्र गोस्वामी ने इस पूरे विकास के लिए एक जांच दल का गठन किया है। एडीएम सिटी और प्रयागराज सीएमओ की संयुक्त टीम पूरी घटना की जांच करेगी। इसके साथ ही जिलाधिकारी ने यह भी कहा है कि इस पूरी घटना के हर पहलू की ठीक से जांच करने के बाद अगर कोई दोषी पाया जाता है, तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।


Leave a Reply

Get the Latest Update and news about around India or the world

Call Us On  Whatsapp
%d bloggers like this: