Drop Us An Email Any Enquiry Drop Us An Email info@e-webcareit.com
Call Us For Consultation Call Us For Consultation +91 9818666272

#1 निगम ने चौराहों व आबादी में खोली 28 चौकियां

Monthly Archives: March 2022

#1 निगम ने चौराहों व आबादी में खोली 28 चौकियां

28 चेक प्वाइंट बनाए गए

नगर निगम ने स्वच्छता रैंकिंग में सुधार के लिए कवायद शुरू कर दी है। बेहतर रैंकिंग के लिए कूड़ा निस्तारण से लेकर शिकायतों के निस्तारण तक करीब 28 चेक प्वाइंट बनाए गए हैं। इन पदों पर पर्यवेक्षकों की तैनाती की जाएगी। जहां निगम के कंट्रोल रूम नंबर से संबंधित पर्यवेक्षक के नाम और नंबर का उल्लेख किया जाएगा। लोग यहां सफाई से जुड़ी शिकायतें भी दर्ज करा सकेंगे। Continue reading #1 निगम ने चौराहों व आबादी में खोली 28 चौकियां


#1 मंहगाई ने लकड़ी हस्तशिल्प उद्यमियों में बढ़ाई बेचैनी

कच्चे माल की कीमत में वृद्धि

Continue reading #1 मंहगाई ने लकड़ी हस्तशिल्प उद्यमियों में बढ़ाई बेचैनी


#1बीते 24 घंटे में मिले 48 नए संक्रमित, कोई मौत नहीं उत्तराखंड में लगातार कम हो रही संक्रमितों की संख्या

सार

कोरोना की तीसरी लहर में अब तक 268 मरीजों की मौत हो चुकी है. 279 मरीज ठीक हो चुके हैं। Continue reading #1बीते 24 घंटे में मिले 48 नए संक्रमित, कोई मौत नहीं उत्तराखंड में लगातार कम हो रही संक्रमितों की संख्या


#1बच्चों को बना दिया कान का रोगी ईयरफोन के इस्तेमाल ने

शाहजहांपुर
ऑनलाइन पढ़ाई में लंबे समय तक ईयरफोन के इस्तेमाल और तेज आवाज में संगीत सुनने की आदत ने बच्चों को कान का मरीज बना दिया। ईयरफोन के इस्तेमाल से बच्चों के कानों में झुनझुनी की समस्या पिछले एक साल से होने लगी है। इन बच्चों की उम्र 13 से 16 साल के बीच है। इलाज के दौरान पता चला कि लगातार मोबाइल ईयरफोन के इस्तेमाल से बच्चों के कानों में दिक्कत हो रही है। वहीं वयस्कों में डायबिटीज और ब्लड प्रेशर की समस्या से कान प्रभावित होने लगे हैं.

कोरोना की दस्तक के बाद शिक्षण संस्थान बंद कर दिए गए और ऑनलाइन शिक्षा का विकल्प दिया गया। हर स्कूल ने ऑनलाइन शिक्षा शुरू की। ऐसे में लगातार ईयरफोन का इस्तेमाल करने वाले और ज्यादा शोर करने वाले बच्चों के कानों में झुनझुनी की समस्या हो गई। इस तरह की समस्या वाले बच्चों के ज्यादातर मामले डॉक्टरों के पास आ रहे हैं। ईयरफोन के इस्तेमाल से कान की नसें कमजोर होने के कारण बहरापन की शिकायत होने लगी है। इसी तरह कान के संक्रमण के मरीज भी बड़े पैमाने पर बढ़े हैं। बच्चों के कान सर्दी, जुकाम या शारीरिक रूप से कमजोर होने के कारण प्रभावित हुए हैं। लंबे समय तक ठंड से बच्चों के कान खराब हो रहे हैं। पर्दों में छेद और कान बहने की समस्या भी होती है। वार्ता

लोगों ने मधुमेह और रक्तचाप से कम सुनना शुरू कर दिया
पहले लोग बुढ़ापे में बहरेपन से पीड़ित होते थे। लेकिन, अब 40 से 45 की उम्र पार करने के बाद डायबिटीज और ब्लड प्रेशर के मरीजों की सुनने की क्षमता कम होने लगी है. अनियंत्रित ब्लड प्रेशर के मरीजों पर सबसे ज्यादा असर कान की नसों पर पड़ता है। अनियमित दिनचर्या और बीमारियों के कारण कान के मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है।

यह सावधानी बरतें
1 कान के साथ कतई छेड़छाड़ न करें।
2 अपने कानों को जबरदस्ती साफ न करें।
3 बार-बार कान में डालने से छड़ी या कली को साफ करने से बचें।
4 जैसे-जैसे आप बड़े होते हैं अपने रक्तचाप और मधुमेह की नियमित जांच करवाएं।
5 डायबिटीज कंट्रोल में न हो तो दवाएं लें, नहीं तो कान पर असर पड़ेगा।
6 कम सुनाई देने की स्थिति में आप मोबाइल का ईयरफोन लगाकर खुद को चेक कर सकते हैं।
ईयरफोन के लगातार इस्तेमाल से बच्चों के कानों पर काफी असर पड़ा है। कक्षा 9 से 12 तक के बच्चों के कान में झुनझुनी की समस्या लगातार बढ़ती जा रही है। पहले ऐसे मरीज बहुत कम होते थे। पिछले कुछ दिनों से कान की समस्या के मरीज ज्यादा आ रहे हैं। सुनवाई हानि के मामले में हियरिंग एड का उपयोग करना सुनिश्चित करें। डॉ. पूनम उमर, विभागाध्यक्ष ईएनटी, सरकारी मेडिकल कॉलेज


#1कई किलोमीटर पैदल चलकर रेलवे स्टेशन पहुंची आयुषी, अब पहुंची पोलैंड

कई किलोमीटर पैदल चलकर रेलवे स्टेशन पहुंची आयुषी, अब पहुंची पोलैंड

Continue reading #1कई किलोमीटर पैदल चलकर रेलवे स्टेशन पहुंची आयुषी, अब पहुंची पोलैंड


रूस यूक्रेन युद्ध: युद्ध के बीच अमेरिका का बड़ा कदम, यूएन में देश से निकाले गए 12 रूसी राजनयिक

अमेरिका ने 12 रूसी राजनयिकों को संयुक्त राष्ट्र में देश छोड़ने का आदेश दिया है, जिसे रूस द्वारा शत्रुतापूर्ण कार्रवाई बताया गया है। Continue reading रूस यूक्रेन युद्ध: युद्ध के बीच अमेरिका का बड़ा कदम, यूएन में देश से निकाले गए 12 रूसी राजनयिक


Get the Latest Update and news about around India or the world

Call Us On  Whatsapp
en English
X