Drop Us An Email Any Enquiry Drop Us An Email info@e-webcareit.com
Call Us For Consultation Call Us For Consultation +91 9818666272

Tehari News: ईको पार्क से मिलेगी डांडाचली को नई पहचान, विश्वस्तरीय पर्यटन स्थल जैसा लगेगा पर्यटक

Tehari News

Tehari News: ईको पार्क से मिलेगी डांडाचली को नई पहचान, विश्वस्तरीय पर्यटन स्थल जैसा लगेगा पर्यटक

नई टिहरी देवदार और ओक के घने जंगल और पक्षियों की मीठी चहचहाहट के बीच धीरे-धीरे बहने वाली ठंडी हवा प्रकृति प्रेमियों को एक अलग ही दुनिया में ले जाती है। जंगल के सन्नाटे में जमीन पर गिरे सूखे पत्तों पर चलते समय उसकी चरमराहट एक अजीब सा सुकून देती है। टिहरी जिले के प्रमुख पर्यटन स्थल दंडाचली का यह नजारा है।

पर्यटन विभाग अब जिला मुख्यालय नई टिहरी से महज 15 किलोमीटर दूर शोरगुल से दूर इस खूबसूरत जगह को विकसित करने की योजना बना रहा है. इसके बाद दंडाचली देश-विदेश के पर्यटकों को विश्वस्तरीय पर्यटन स्थल का अनुभव कराएगी।

जून की तपिश में भी महसूस करें ठंडक

पांच वर्ग किलोमीटर में फैले देवदार और ओक के घने जंगल से घिरे दंडाचली क्षेत्र में प्रकृति ने खुले दिमाग से अपना आशीर्वाद बरसाया है। इस क्षेत्र में समृद्ध वन्यजीव, गुलदार, भालू, सेही, घुरल जैसे वन्यजीव बहुतायत में हैं। जंगल भी विभिन्न प्रजातियों के पक्षियों से भरा हुआ है। दंडाचली का मौसम जून की तपिश में भी ठंडक का अहसास कराता है। जबकि दिसंबर और जनवरी में यहां चार से पांच फीट तक बर्फ जम जाती है।

हर साल बड़ी संख्या में पर्यटक आते हैं

हालांकि, यहां ठहरने के लिए होटल की व्यवस्था नहीं होने के कारण पर्यटकों को शाम होने से पहले चंबा या नई टिहरी लौटना पड़ता है। इसके बावजूद पर्यटकों की आवाजाही बनी रहती है। नए साल का जश्न मनाने के लिए हर साल बड़ी संख्या में पर्यटक दंडाचली पहुंचते हैं। लेकिन, पर्यटन मानचित्र पर न होने के कारण यहां आने वाले पर्यटकों का कोई हिसाब नहीं रखा जाता है।

रोजगार के अवसर भी विकसित होंगे

गोंसरी जिला पंचायत सदस्य सतेंद्र धनोला का कहना है कि दंडाचली में इको पार्क बनने से स्थानीय युवाओं को भी रोजगार मिलेगा. पर्यटकों की आमद बढ़ने से यहां दुकानें और होमस्टे खुलेंगे, रोजगार के अन्य साधन भी विकसित होंगे।

उसने बोला…

जिला पर्यटन अधिकारी अतुल भंडारी का कहना है कि देश-विदेश के पर्यटकों के दंडाचली की ओर आकर्षण को देखते हुए यहां ईको पार्क बनाने का प्रस्ताव शासन को भेजा गया है. मंजूरी मिलने के बाद यहां के चीड़ के जंगलों में नेचर ट्रैक बनाए जाएंगे। पर्यटकों को मचान, व्यू पॉइंट और एडवेंचर स्पोर्ट्स की भी सुविधा मिलेगी। इसके अलावा यहां बर्मा ब्रिज, वुडन एंड ग्लास हाउस रेस्टोरेंट और माउंटेन बाइक ट्रैक भी बनाया जाएगा।


Leave a Reply

Latest News in hindi

Call Us On  Whatsapp