Drop Us An Email Any Enquiry Drop Us An Email info@e-webcareit.com
Call Us For Consultation Call Us For Consultation +91 9818666272

#1 Uttarakhand: रोडवेज बसों में यात्रियों का होगा सुखद सफर, उत्तराखंड परिवहन निगम हर साल खरीदेगा 60 नई बसें

Transport

#1 Uttarakhand: रोडवेज बसों में यात्रियों का होगा सुखद सफर, उत्तराखंड परिवहन निगम हर साल खरीदेगा 60 नई बसें

रोडवेज बस बेड़े में हर साल 60 नई बसें शामिल होंगी। भविष्य में रोडवेज के बस बेड़े में रोडवेज की अपनी निजी बसों की संख्या 60 प्रतिशत तक होगी। अनुबंधित बसों की संख्या 40 प्रतिशत रखी जाएगी।

रोडवेज बस बेड़े में हर साल 60 नई बसें शामिल होंगी। भविष्य में रोडवेज के बस बेड़े में रोडवेज की अपनी निजी बसों की संख्या 60 प्रतिशत तक होगी। अनुबंधित बसों को बढ़ावा देकर इनकी संख्या 40 प्रतिशत रखी जाएगी। अनुबंधित रोडवेज बसों का अनुबंध छह महीने के लिए बढ़ाया जा रहा है। यह फैसला कोरोना काल में बस संचालन के प्रभाव से हुए नुकसान की भरपाई के लिए लिया गया है.

मंगलवार को रोडवेज बोर्ड की बैठक में यह फैसला लिया गया। विधानसभा के पास स्थित रोडवेज मुख्यालय में बोर्ड अध्यक्ष एसीएस आनंद बर्धन की अध्यक्षता में हुई बैठक में कई अहम मुद्दों पर चर्चा हुई. बोर्ड ने फैसला किया है कि पहाड़ी रूटों के लिए सिर्फ डीजल बसें ही खरीदी जाएंगी।

बोर्ड ने अंतरराज्यीय और दूरस्थ पर्वतीय मार्गों पर प्रवर्तन के लिए पांच नए बोलेरो खरीदने की भी अनुमति दी है। वर्ष 2016 से 2020-21 की ऑडिट रिपोर्ट बोर्ड की अगली बैठक में रखने के निर्देश दिए गए हैं. रोडवेज संपत्तियों के व्यावसायिक उपयोग के लिए चयनित फर्मों को उचित उपयोग और राजस्व क्षमता की व्यवहार्यता रिपोर्ट तैयार करने के लिए भी कहा गया है।

भुगतान की प्रक्रिया को जल्द पूरा करने के लिए बोर्ड ने ईटीएम में फ्लीट मैनेजमेंट सिस्टम, वर्कशॉप आधुनिकीकरण, बस स्टेशन आधुनिकीकरण और यूपीआई जारी किया है। इसकी रिपोर्ट बोर्ड की अगली बैठक में भी रखी जाएगी। बैठक में परिवहन सचिव अरविंद सिंह हांकी, एमडी रोहित मीणा, जीएम-ऑपरेशन दीपक जैन आदि उपस्थित थे.
Transport
बैठक में लिए गए ये अहम फैसले
सीधी भर्ती के फ्रीज किए गए पदों में एजीएम, केंद्र प्रभारी, लेखाकार, मैकेनिक, टायर प्रशिक्षक, इलेक्ट्रीशियन, फिटर मैकेनिक और सहायक स्टोरकीपर के आवश्यक पदों पर भर्ती की जाएगी. इनकी संख्या करीब 30 होगी।
कर्मियों को एमएसीपीएस की सुविधा के लिए सीआर में सर्वश्रेष्ठ पर टिप्पणी करने की बाध्यता नहीं होगी। यह लाभ बेस्ट कैटेगरी में भी मिलेगा।
– कोरोना प्रभावित होने के कारण कार्यालय सहायक द्वितीय एवं कनिष्ठ लिपिक के पदों पर अर्जित किलोमीटर में छूट के आदेश को स्वीकृति प्रदान कर दी गयी है.


Leave a Reply

Latest News in hindi

Call Us On  Whatsapp