Drop Us An Email Any Enquiry Drop Us An Email info@e-webcareit.com
Call Us For Consultation Call Us For Consultation +91 9818666272

उत्तराखंड चार धाम यात्रा 2023: तीन दिन में 3 तीर्थयात्रियों की मौत, दो की हार्ट अटैक से मौत

Uttarakhand Char Dham News Hindi

उत्तराखंड चार धाम यात्रा 2023: तीन दिन में 3 तीर्थयात्रियों की मौत, दो की हार्ट अटैक से मौत

उत्तराखंड चार धाम यात्रा 2023 की शुरुआत 22 अप्रैल को गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने के साथ हुई। केदारनाथ धाम के कपाट कल 25 अप्रैल मंगलवार, जबकि बदरीनाथ धाम के कपाट 27 अप्रैल को खुलेंगे. चिंता की बात यह है कि चार धाम जाने वाले श्रद्धालुओं की मौत हो रही है।

पिछले तीन दिनों में तीन तीर्थयात्रियों की मौत हो चुकी है। हैरानी की बात यह है कि तीन तीर्थयात्रियों में से दो की मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई। गौरतलब हो कि चार धाम यात्रा शुरू होने के साथ ही एमपी, यूपी, दिल्ली-एनसीआर समेत देश-विदेश से तीर्थयात्री धामों के दर्शन करने पहुंच रहे हैं।

उत्तरकाशी जिले के यमुनोत्री धाम आए महाराष्ट्र के एक तीर्थयात्री की सोमवार को जानकी चट्टी में मौत हो गई। बताया गया कि यमुनोत्री धाम मार्ग पर जानकी चट्टी स्थित पार्क में गिरने से तीर्थयात्री की चोट लगने से मौत हो गयी. सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा पीएम के लिए भिजवाया।

जानकारी के अनुसार मुरलीधर सुखदेव पाटिल पुत्र सुखदेव पाटिल निवासी साने गुरुजी कॉलोनी, परोला, जिला जलगांव, महाराष्ट्र सोमवार को यमुनोत्री धाम पहुंचे थे. जहां यमुनोत्री धाम में दर्शन करने के बाद जानकी चट्टी स्थित पार्क में उन्हें ठोकर लगी और वह जमीन पर गिर पड़े।

जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। उसके साथ आए अन्य तीर्थयात्रियों ने पुलिस को सूचना दी। जिसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव का पंचनामा पीएम के लिए भिजवाया। उधर, यमुनोत्री धाम में अब तक तीन श्रद्धालुओं की मौत हो चुकी है। इससे पहले यात्रा के पहले और दूसरे दिन दो तीर्थयात्रियों की हृदय गति रुकने से मौत हो गई थी।

55 वर्ष से अधिक आयु के सभी यात्रियों के स्वास्थ्य की जाँच

बड़कोट। यमुनोत्री यात्रा मार्ग पर 55 वर्ष और उससे अधिक आयु के सभी तीर्थयात्रियों का स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है। यमुनोत्री जाने वाले तीर्थयात्रियों के स्वास्थ्य परीक्षण के लिए बड़कोट के दोबता में चिकित्सकों की टीम द्वारा रक्तचाप, शुगर, तापमान सहित पांच बीमारियों की जांच की जा रही है. जिसके बाद ही यात्रियों को यमुनोत्री यात्रा पर जाने दिया जा रहा है। उक्त रोग से ग्रसित तीर्थयात्री यमुनोत्री धाम पर जबरन जाना चाहता है तो उससे शपथ पत्र भरवाया जा रहा है।

सोमवार को बड़कोट एसडीएम जितेंद्र कुमार ने दोबता में स्वास्थ्य जांच शिविर का निरीक्षण किया और डॉक्टरों को यमुनोत्री यात्रा पर जाने वाले 55 वर्ष और उससे अधिक उम्र के सभी यात्रियों के स्वास्थ्य की जांच करने के निर्देश दिए. उन्होंने बताया कि दो डॉक्टर, तीन फार्मासिस्ट और दो सीएचओ समेत सात कर्मियों को दोबता में यात्रियों के स्वास्थ्य की जांच के लिए तैनात किया गया है.

यमुनोत्री में हार्ट अटैक से दो श्रद्धालुओं की मौत हो गई है

22 अप्रैल को खुले युमनोत्री धाम में पिछले दो दिनों में दो तीर्थयात्रियों की मौत हो चुकी है। चिंता की बात यह है कि दोनों तीर्थयात्रियों की मौत हार्ट अटैक से हुई है। दिनेश परिदार पुत्र गोकुल परिदार उम्र 40 वर्ष निवासी पढ़निया तहसील एवं जिला खरगोन मप्र के रविवार 23 अप्रैल को यमुनोत्री मंदिर में दर्शन कर लौटते समय खरशाली शिव शक्ति पार्किंग की तबीयत बिगड़ गई. अस्पताल पहुंचने से पहले ही तीर्थयात्री की मौत हो गई, जिसे 108 की मदद से सीएचसी बड़कोट लाया गया। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। यात्रा के पहले दिन गुजरात के कनक सिंह का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया।


Leave a Reply

Latest News in hindi

Call Us On  Whatsapp