Drop Us An Email Any Enquiry Drop Us An Email info@e-webcareit.com
Call Us For Consultation Call Us For Consultation +91 9818666272

Uttarakhand News: तीन युवकों पर बाघ का हमला, एक की मौत के बाद वन विभाग ने बाकी 2 को क्यों भेजा जेल?

tiger attack sixteen nine

Uttarakhand News: तीन युवकों पर बाघ का हमला, एक की मौत के बाद वन विभाग ने बाकी 2 को क्यों भेजा जेल?

Uttarakhand News: उत्तराखंड में एक बाघ ने तीन युवकों पर हमला कर दिया। इस हमले में एक की मौत हो गई। वहीं, वन विभाग ने बाघ के हमले से बचे युवकों को जेल में डाल दिया। दरअसल, रामनगर के कॉर्बेट नेशनल पार्क के पास बाघ के हमले में मारे गए युवक का शव आज बरामद कर लिया गया है. आइए बताते हैं पूरा मामला।

tiger news

युवक की तलाश के लिए रातभर सर्च ऑपरेशन चला

आपको बता दें कि बीती शाम रामनगर के पानोद नाले के पास एक बाघ ने तीन युवकों पर हमला कर दिया था. जानकारी के अनुसार दो युवक जान बचाकर भागने में सफल रहे, लेकिन उनका एक साथी फंस गया। बाघ उसे अपने जबड़ों से खींचकर जंगल के अंदर ले गया। घटना की जानकारी मिलते ही कॉर्बेट टाइगर रिजर्व की टीम, रामनगर वन प्रमंडल व पुलिस टीम के साथ लापता युवक की तलाश शुरू कर दी. युवक की तलाश के लिए रातभर सर्च ऑपरेशन चलाया गया, लेकिन उसका पता नहीं चल सका।

इससे पहले भी बाघ के तीन हमले हो चुके हैं

इसके बाद रविवार सुबह लापता युवक की तलाश शुरू की गई। इसके बाद उसका शव बरामद किया गया। इससे पहले भी यहां बाघ के तीन हमले हो चुके हैं। सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए राष्ट्रीय राजमार्ग 309 पर गर्जिया से मोहन तक वन विभाग एवं कॉर्बेट टाइगर रिजर्व द्वारा संयुक्त पेट्रोलिंग की जा रही है. इतना ही नहीं प्रशासन ने देर शाम से सुबह तक बाइक सवारों के वहां से गुजरने पर रोक लगा दी है.

बाघ ने 12 से अधिक को मार डाला

वन विभाग के मुताबिक इस पूरे इलाके में अब तक बाघ के हमले से एक दर्जन से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. काफी समय से जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क, रामनगर वन प्रमंडल इस पूरे इलाके में बाघ की तलाश कर रहा है, लेकिन अब तक खूंखार जानवर का पता नहीं चल सका है.
टाइगर रिजर्व की टीम हमलावर बाघ का पता लगा रही है

hathi Uttrakhand samachar

खूंखार जानवर को खोजने के लिए हाथियों की मदद

वन विभाग द्वारा कई टीमों का गठन किया गया है। बाघ की तलाश के लिए हाथियों की मदद ली जा रही है। साथ ही ड्रोन कैमरों से भी तलाशी चल रही है। डॉक्टरों की टीम भी मौजूद है। इसके साथ ही वन विभाग व जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क की टीम मुख्य मार्ग व वन क्षेत्र में पेट्रोलिंग कर रही है.

पिंजरा और कैमरे भी लगाए

बाघ को पकड़ने के लिए वन विभाग ने कई जगह पिंजरा भी लगाया है, लेकिन शातिर बाघ इन सब बातों के बाद भी फरार हो रहा है और लगातार नेशनल हाईवे पर लोगों को अपना शिकार बना रहा है.

बताया जा रहा है कि जिन तीन युवकों पर बाघ ने हमला किया वे जंगल के किनारे बैठकर शराब पी रहे थे। बाघ के हमले में सकुशल फरार दोनों युवकों को वन विभाग ने गिरफ्तार भी कर लिया है। बाघों के लगातार बढ़ते हमलों को देखते हुए वन विभाग ने वहां पहले ही धारा 144 लगा दी है. वहीं, वन विभाग के मुताबिक उस जगह पर चार से ज्यादा बाघों की आवाजाही पाई गई है. फिलहाल कॉर्बेट टाइगर रिजर्व की टीम हमलावर बाघ का पता लगा रही है।

प्रतिबंधित क्षेत्र में आवाजाही पर रोक

वहीं रामनगर प्रशासन और जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क के साथ वन विभाग हर दिन लोगों से अपील कर रहा है कि प्रतिबंधित क्षेत्र में न जाएं जहां बाघ लगातार अपने लोगों का शिकार कर रहा है. शाम के बाद उस क्षेत्र में जाना बिल्कुल भी मना कर दिया जाता है। पोस्टर, बैनर और मीडिया के जरिए लगातार लोगों को आगाह किया जा रहा है, लेकिन लोग मानने को तैयार नहीं हैं, जिसके लिए उन्हें अपनी जान गंवानी पड़ रही है.


Leave a Reply

Latest News in hindi

Call Us On  Whatsapp