Drop Us An Email Any Enquiry Drop Us An Email info@e-webcareit.com
Call Us For Consultation Call Us For Consultation +91 9818666272

#1Kargil Vijay Diwas 2022: कारगिल विजय दिवस :सीएम पुष्कर सिंह धामी ने शहीदों को दी श्रद्धांजलि, वीरों को किया सम्मानित

kargil vijay diwas

#1Kargil Vijay Diwas 2022: कारगिल विजय दिवस :सीएम पुष्कर सिंह धामी ने शहीदों को दी श्रद्धांजलि, वीरों को किया सम्मानित

सार
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार सैनिकों, पूर्व सैनिकों और उनके परिवारों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है. भारत की सेना ने हमेशा अपने शौर्य और पराक्रम से देश का मान बढ़ाया है।

विस्तार
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कारगिल विजय दिवस के अवसर पर भारतीय सेना के अदम्य साहस और वीरता को सलाम किया। शौर्य दिवस के मौके पर मंगलवार को सीएम धामी ने गांधी पार्क स्थित शहीद स्मारक स्थल पर कारगिल के शहीदों को श्रद्धांजलि दी. इस दौरान उन्होंने शहीदों के परिवारों और वीरों को सम्मानित भी किया. वहीं सीएम की ओर से कोई बड़ा ऐलान नहीं होने से फौजी परिवार भी मायूस नजर आए।

cm

सीएम पुष्कर सिंह धामी ने अपने संबोधन की शुरुआत रामधारी सिंह दिनकर की कविता ‘जिसकी सिंघनाद सेहमी अर्थ रही अभी डोल, कलाम, आज की जय बोल’ से की।

उन्होंने कहा कि मैं खुद एक फौजी परिवार से ताल्लुक रखता हूं। इसलिए मैं नायकों की वीरता को समझता हूं। कारगिल युद्ध में वीरों की देशभक्ति अपने चरम पर थी। यह उसका साहस था जिस पर युद्ध जीता गया था।

सीएम धामी ने कहा कि राज्य में बनने वाला सैन्य धाम सितंबर माह तक बनकर तैयार हो जाएगा. आने वाला दशक उत्तराखंड का दशक होगा। हमें उत्तराखंड को देश का सर्वश्रेष्ठ राज्य बनाने का संकल्प लेना होगा।

कहा कि पहले सेना को एक भी गोली चलाने की इजाजत नहीं थी। अब अगर सेना पर गोली चलाई जाती है, तो इसका जवाब सर्जिकल स्ट्राइक से दिया जाता है। पीएम मोदी के नेतृत्व में अब देश की सेना और मजबूत हुई है. केंद्रीय नेतृत्व दिल्ली में न बैठकर घाटी में जाकर सेना का मनोबल बढ़ाता है।

सीएम ने कहा कि कारगिल युद्ध में बड़ी संख्या में उत्तराखंड के सपूतों ने देश की रक्षा के लिए अपने प्राणों की आहुति दी। राज्य सरकार सैनिकों, पूर्व सैनिकों और उनके परिवारों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है। भारत की सेना ने हमेशा अपने शौर्य और पराक्रम से देश का मान बढ़ाया है। हमें अपने जवानों की वीरता पर गर्व है। भारतीय सेना के वीर जवानों ने कारगिल में विपरीत परिस्थितियों में भी दुश्मन को भागने पर मजबूर कर दिया था। कारगिल युद्ध में देश की सीमाओं की रक्षा के लिए वीर जवानों के बलिदान को देश हमेशा याद रखेगा।

राज्यपाल ने कारगिल विजय दिवस पर शहीदों को दी श्रद्धांजलि
कारगिल विजय दिवस ‘शौर्य दिवस’ के अवसर पर राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (सेनी) ने भारतीय सेना के वीर शहीदों को श्रद्धांजलि दी। राज्यपाल ने अपने संदेश में कहा कि भारतीय सेना ने कारगिल युद्ध के दौरान अदम्य साहस, वीरता और सामरिक कौशल का परिचय दिया था। इस विजय अभियान में भारतीय सेना के कई वीर जवानों ने देश के लिए अपने प्राणों की आहुति दी, जिनमें देवभूमि उत्तराखंड के कई वीर जवान भी शामिल हैं। राज्यपाल ने कहा कि शौर्य दिवस देश की सुरक्षा के लिए सीमा पर तैनात वीर जवानों के प्रति आभार प्रकट करने का दिन है. इन वीर जवानों के बलिदान और बलिदान से ही देश की सीमाएं सुरक्षित हैं।


Leave a Reply

Latest News in hindi

Call Us On  Whatsapp